हंसी के फव्‍वारे का नया पता

Friday, June 17, 2011

हाय ये इम्तिहान- Funny Exam jokes


काश कोई इम्तिहान का बीमा करवा देता
तो हर इम्तिहान के पहले प्रीमियम भरवा देते
पास होते तो ठीक
वरना इंश्‍योरेंस क्‍लेम करवा लेते

==================

पिता:
इतने कम मार्क्‍स ?
दो थप्‍पड़ लगाने चाहिए..

बेटा:
हां पापा,
मैंने उस कमीने मास्‍टर का
घर भी देख लिया है

==================

समंदर भर सिलेबस होता है
नदी भर पढ़ पाते हैं
जिसमें बाल्‍टी भर याद रह पाता है
चुल्‍लू भर नंबर आते हैं
जिनमें हम डूब जाते हैं

==================

पुलिसवाला अपने बेटे से:
तुम्‍हारा रिजल्‍ट अच्‍छा नहीं आया
आज से खेलना और टीवी देखना बंद

बेटा:
ये लो 50 रुपये पकड़ो
और मामला यहीं रफा-दफा करो

5 comments:

रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" said...

मेरा बिना पानी पिए आज का उपवास है आप भी जाने क्यों मैंने यह व्रत किया है.

दिल्ली पुलिस का कोई खाकी वर्दी वाला मेरे मृतक शरीर को न छूने की कोशिश भी न करें. मैं नहीं मानता कि-तुम मेरे मृतक शरीर को छूने के भी लायक हो.आप भी उपरोक्त पत्र पढ़कर जाने की क्यों नहीं हैं पुलिस के अधिकारी मेरे मृतक शरीर को छूने के लायक?

मैं आपसे पत्र के माध्यम से वादा करता हूँ की अगर न्याय प्रक्रिया मेरा साथ देती है तब कम से कम 551लाख रूपये का राजस्व का सरकार को फायदा करवा सकता हूँ. मुझे किसी प्रकार का कोई ईनाम भी नहीं चाहिए.ऐसा ही एक पत्र दिल्ली के उच्च न्यायालय में लिखकर भेजा है. ज्यादा पढ़ने के लिए किल्क करके पढ़ें. मैं खाली हाथ आया और खाली हाथ लौट जाऊँगा.

मैंने अपनी पत्नी व उसके परिजनों के साथ ही दिल्ली पुलिस और न्याय व्यवस्था के अत्याचारों के विरोध में 20 मई 2011 से अन्न का त्याग किया हुआ है और 20 जून 2011 से केवल जल पीकर 28 जुलाई तक जैन धर्म की तपस्या करूँगा.जिसके कारण मोबाईल और लैंडलाइन फोन भी बंद रहेंगे. 23 जून से मौन व्रत भी शुरू होगा. आप दुआ करें कि-मेरी तपस्या पूरी हो

श्यामल सुमन said...

मजा आ गया - क्या बात है? खासकर तीसरा
सादर
श्यामल सुमन
09955373288
www.manoramsuman.blogspot.com

Dilbag Virk said...

bahut bdhiya

ZEAL said...

.

interesting jokes...

smiles.

.

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

चुल्लू भर नम्बर आते हैं बढ़िया है :):)