हंसी के फव्‍वारे का नया पता

Sunday, June 12, 2011

आइम बंता सिंग नॉट रिलैक-सिंग


बंता अमेरिका में एक बीच पर धूप सेंक रहा था.
एक औरत आई और बोली: आर यू रिलैक्सिंग ?
बंता ने उत्‍तर दिया: नो आइम बंता सिंग.
थोड़ी देर बाद एक दूसरे व्‍यक्ति ने आकर वही सवाल पूछा.
बंता बोला: नो नो मी बंता सिंग.
तीसरी बार भी किसी ने आकर यही सवाल बंता से पूछा.
बंता बुरी तरह परेशान होकर उस जगह से उठकर चला गया

थोड़ी देर बाद उसने एक दूसरे सरदार को बीच पर देखा.
बंता उसके पास गया और बोला: आर यू रिलै‍क्सिंग ?
दूसरा सरदार पढ़ा-लिखा था.
उसने जवाब दिया: यस आइम रिलैक्सिंग.

बंता ने उसको एक जोरदार थप्‍पड़ जड़ा और बोला:
'साले सब तेरे को वहां ढूंढ़ रहे हैं,
और तू यहां आराम कर रहा है.'

2 comments:

जाट देवता (संदीप पवाँर) said...

थप्पड सही रहा, आगे से बिना बताये आराम नहीं करेगा।

Vivek Jain said...

हा हा हा,
विवेक जैन vivj2000.blogspot.com